‘लखनऊ में रोजगार की मांग कर रहे युवाओं पर अहंकारी भाजपा का लाठीचार्ज सरकार को बहुत महंगा पड़ेगा- अखिलेश

Uttar Pradesh lathi charge on BTC candidates

भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने सत्ता में आने से पहले कई वादे किए। देश की आम जनता से महंगाई कम करने वादा, किसानों को कर्ज माफी का वादा, देश को भ्रष्टाचार मुक्त सरकार देने का वादा, कालेधन की वापसी का वादा और इन में से एक महत्वपूर्ण वादा युवाओं को हर साल 2 लाख रोजगार देने का वादा किया था। लेकिन भाजपा सरकार ने सत्ता में आने के बाद इनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया है। देश के मौजूदा हालात को देखकर यह स्पष्ट हो रहा है कि बीजेपी ने सिर्फ सत्ता हासिल करने के लिए जनता से यह झूठे और खोखले वादे किए थे।

गौरतलब है कि, आज देश में लगातार बढ़ती महंगाई से आम जनता परेशान हैं। किसान फसलों के सही दाम नहीं मिलने और कर्ज माफी को लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा है, लेकिन सरकार किसानों पर ही लाठीचार्ज कर रही है। मोदी सरकार के राज में नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, विजय माल्या, और न जाने कितने घोटालेबाद देश को हजारों करोड़ का चुना लगा कर विदेश भाग गए। देश में सूप्रीम कोर्ट, सीबीआई, और आरबीआई में सरकार के हस्तक्षेप के कारण संस्थानों की विश्वसनीयता और ईमानदारी खतरे में आ गई है।

वहीं , देश के युवाओं को हर साल 2 लाख रोजगार देने का वादा करने वाली भाजपा सरकार ने देश में नोटबंदी और GST करके रोजगार के अवसर ही खत्म कर दिए। नौजवानों से उनकी नौकरियाँ छिन गई। छोटे कारोबारियों के धंधे बर्बाद हो गए हैं। और आज युवा रोजगार के लिए दर दर भटक रहा है। सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा है, लेकिन अहंकारी भाजपा सरकार उन्हें रोजगार देने के बजाए उनपर लाठीचार्ज करवा रही है।

Uttar Pradesh lathi charge on BTC candidates
Uttar Pradesh lathi charge on BTC candidates
Uttar Pradesh lathi charge on BTC candidates

दरअसल, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नियुक्ति की मांग कर रहे शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों पर पुलिस ने शुक्रवार को जमकर लाठीचार्ज किया। इससे कई अभ्यर्थियों के सिर फूट गए, कई महिला अभ्यर्थी भी गंभीर रूप से घायल हुई हैं। प्रदर्शन के दौरान सामने आई तस्वीरे भयावह है।

घटना की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रही है। अभ्यर्थी कटऑफ कम करके नियुक्ति की मांग लेकर विधानसभा के सामने प्रदर्शन कर रहे थे। तभी पुलिस ने उनको हटाने के लिए उनपर लाठीचार्ज किया।

इसी बीच, शिक्षक अभ्यर्थियों पर हुए लाठीचार्ज पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव और आम आदमी पार्टी(आप) के प्रवक्ता एवं राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने ट्वीट कर उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार पर जमकर निशाना साधा।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अखिलेश यादव ने विधानसभा के सामने 68,500 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा, शांतिपूर्ण और अहिंसक तरीके से धरना दे रहे अभ्यर्थियों को बर्बरता पूर्वक पीटा जाना दुखद और शर्मनाक है। भाजपा सरकार में रोजगार तो मिलने से रहा, उल्टे नौजवानों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। वहीं, उनके निर्देश पर सपा नेताओं ने सिविल अस्पताल जाकर घायलों का हाल-चाल जाना।

अखिलेश यादव ने शुक्रवार को अपने ट्विटर पर घटना की कुछ तस्वीरें पोस्ट करते हुए लिखा, “युवाओं के इसी ख़ून से भाजपा के पतन की कहानी लिखी जाएगी। लखनऊ में शिक्षक अभ्यर्थियों पर अहंकारी भाजपा का लाठीचार्ज सरकार को बहुत महंगा पड़ेगा। रोज़गार के अधिकार की इस लड़ाई में समाजवादियों की संवेदना एवं पूर्ण समर्थन घायल अभ्यर्थियों के साथ है। हम हर मोर्चे पर उनका साथ निभाएंगे।”

वहीं, आप नेता संजय सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा, “उत्तर प्रदेश की तुगलकी सरकार ने एक बार फिर प्रदेश के युवा बेरोजगारों पर बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज कराया, नौकरी/रोजगार देने की जगह लाठीचार्ज का सिलसिला रुक नहीं रहा। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार युवाओं को नौकरी/रोजगार नहीं दे सकती तो उसे सत्ता में रहने का कोई हक़ नहीं।”

संजय सिंह ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “योगी सरकार पागल हो चुकी है हर दिन नौजवानों को लाठी गोली का शिकार बनाया जा रहा है BTC डिग्री धारकों पर बर्बरतापूर्ण लाठीचार्ज निंदनीय है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *