गुजरात में युपी-बिहार के लोगों पर हुए हमलों पर खामोश रहनेवाले मोदी आज पूरी दुनिया को एकता का ज्ञान दे रहे हैं

Sardar Patel’s Statue of Unity inauguration

देश के पहले गृह मंत्री सरदार पटेल की 143वीं जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा के रूप में सरदार वल्लभभाई पटेल ( Vallabhbhai Patel) की स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) का आज (31 अक्टूबर) गुजरात में अनावरण किया।

Sardar Patel's Statue of Unity inauguration
Sardar Patel’s Statue of Unity inauguration

सरकार पटेल की प्रतिमा को दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा बताया जा रहा है। जो करीब  3 हज़ार करोड़ से ज्यादा के खर्च में बनी ये मूर्ति चार सालों में बनकर तैयार है। वहीं दूसरी तरफ गुजरात मेट्रो जिसे जनता की सुविधा के लिए बनाया जाना था वो साल 2004 से अटकी पड़ी है।

इतना ही नहीं, गुजरात के नर्मदा ज़िले में सरदार पटेल की प्रतिमा से प्रभावित जनजातीय समुदाय विरोध कर रहा है। हाल ही में प्रतिमा का विरोध कर रहे जनजातीय समुदाय के लोगों ने पीएम मोदी और ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ की तस्वीर वाले पोस्टरों को फाड़ दिया है, साथ ही कुछ पोस्टरों पर कालिख भी पोती है।

इस दौरान एक जनजातीय नेता प्रफुल वसावा ने बताया कि, “यह इस बात का स्पष्ट प्रमाण है कि जनजातीय समुदाय बीजेपी से कितना असंतुष्ट है। उन्होंने जनजातीय समुदाय के सबसे बेशकीमती संसाधन उनकी जमीनों को कथित विकास कार्यों के लिए छीन लिया।”

Sardar Patel’s Statue of Unity inauguration

उन्होंने कहा, “नर्मदा के जनजातीय समूह साल 2010 से इस प्रोजेक्ट का विरोध कर रहे हैं और अब पूरे प्रदेश की जनता इसके विरुद्ध है।” इस परियोजना से प्रभावित जनजातीय समुदाय के लगभग 75,000 लोगों ने स्टैच्यू का विरोध करने के लिए 31 अक्टूबर को बंद बुलाया है।

उन्होंने आगे कहा, “जनजातीय के रूप में सरकार ने हमारे अधिकारों का हनन किया है। गुजरात के महान सपूत के खिलाफ हमारा कोई विरोध नहीं है। सरदार पटेल और उनकी इज्जत बनी रहनी चाहिए। हम विकास के भी खिलाफ नहीं हैं, लेकिन यह परियोजना हमारे खिलाफ है।”

इसी बीच, पाटीदार नेता हार्दिक पटेल भी किसानों के लिए सत्याग्रह करने जा रहें है। हार्दिक ने सोमवार (30 अक्टूबर) को इसकी जानकारी सोशल मीडिया पर देते हुए लिखा कि हजारों किसानों की आवाज़ के लिए हम जूनागढ़ इकट्टा होंगें जिसमें पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा भी शामिल होंगें।

वहीं, दलित नेता एवं गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवानी ने पीएम मोदी द्वारा सरकार पटेल की प्रतिमा का अनावरण किए जाने पर जमकर निशाना साधा है। जिग्नेश ने कहा, युपी-बिहार के लोगों को गुजरात में जब मारा जा रहा था तब खामोश रहनेवाले प्रधानमंत्री जी आज पूरी दुनिया को एकता का ज्ञान देंगे।

गौरतलब है कि, हाल ही में बीजेपी शासित गुजरात में यूपी, बिहार और मध्य प्रदेश के लोगों को निशाना बनाया जा रहा था, हमलों के डर से लोग पलायन करने को मजबूर हो गए थे। लेकिन खुद के गृह राज्य में लोगों पर हो रहे हमलों पर पीएम मोदी खामोश रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *